best Life lesson ! | चालाकी पर अनमोल वचन | 2022 |

Life lesson ! | चालाकी पर अनमोल वचन | 2022 |

 

चालाकी पर अनमोल वचन : Hello doston to fir se ek baar swaagat hai aap sabhi ka shayarhindi.com par . Aaj hum aapke liye lekar aaye hai chaalaaki par shayari . Hum sab ki zindagi mein kch aise log hote hai jo kuch jyada hi chaalakiyan kar jaate hai . To aaj hum is post ke dwara aapke dil ki baat ko aapke saamne laakar aapse judna chaahte hai. Bane rahe humare saath is post ke end tak . Agar aapko hindi shayari ka shaukh hai toh humare site par jarur visit kare . No 10 jarur padhe .

 

What is Chanakaya Niti ?

 

 

चालाकी पर अनमोल वचन

 

चालाकी पर अनमोल वचन

 

(1)

Mujhe apnon mein aur gairon mein
kuch fark samajh nahi aata
main gairon ki chalakiyaa to samajhta tha
mujhe apnon ki chaalaki ka kuch samajh nahi aata .

मुझे अपने में और गैरों में
कुछ फ़र्क समझ नहीं आता:
मैं गैरों की चालकिया से समझौता था
मुझे अपने की चालक का कुछ समझ नहीं आता।

 

(2)

Meri jaanemann aisi thi
ji hume samajh naa aati thi
wo to baaton baaton mein
chaalaki se jhuth bol jaati thi

मेरी जानेमन ऐसी थी
जी हमें समझ ना आती थी
वाह तो बातो में
चालक से झूठ बोल जाती थी

 

Best चालाकी पर अनमोल वचन

चालाकी पर अनमोल वचन

 

(3)

Uski chaalaki ko hum samajh gaye thay
isliye ishq ki raah mein piche hatt gaye thay

उसकी चालक को हम समझ गए थे
इस्लिये इश्क की राह में पिचे हट गए थे

 

(4)

Bewafa ishq ye roz tadpaata hai
jisse ho jaaye wo ishaaron par nachaata hai
hum thehre maasoon aur mehboob humara chaalak
isliye wo hamare dil ke saath khel jaata hai

बेवफ़ा इश्क ये रोज़ तड़पाता है
जिनसे हो जाए वो इशारों पर नाचता है
हम थेरे मसून और महबूब हमारा चालक
इसलिये वो हमारे दिल के साथ खेल जाता है

 

(5)

Jaante  nahi hum teri bewafai ko
yeh tere mann ki bhool thi
chaalak samajhti thi tum khud ko
tum to hamare pairon ki dhul thi

जाते नहीं हम तेरी बेवफाई को
ये तेरे मन की भूल थी
चालक समाजी थी तुम खुद को
तुम तो हमारे जोड़ी की धूल थी

 

(4)

Bahut chaalak hai woh
usne tohfe mein ghadi toh di
magar waqt nahi

बहुत चालक है वो
उसे तोहफे में घड़ी तो दी
मगर वक़्त नहीं

 

(5)

Socha tha usne apni chaalaki se
barbaad kar diya hume
unhe kya pta unse phehle hi
khatam kar chuke hai hum unhe

सोचा था उसे अपनी चालक से
बरबाद कर दिया हम
उन्हे क्या पता उनसे पहले ही
खतम कर चुके हैं हम उन्हे

 

Must read चालाकी पर अनमोल वचन

 

(6)

Kohni par tike hue log
tukdon par bikke hue log
karte hai bargad ki baatein
ye gamle mein uge hue log

कोहनी पर टिके हुए लोग
टुकड़े पर बिक्के हुए लोग
करते हैं बरगद की बातें
ये गमले में उगे लोग

चालाकी पर अनमोल वचन

(6)

Mujhko chhodne ki wajah to batate
mujhse naraz thay yaa
mujh jaise hazaro thay

मुझे छोडने की वजह तो बता
मुझसे नारज था या
मुझे जैसे हजारो था

 

(7)

Pyaasi ye nigaahein tarasti rehti hai
teri yaad mein aksar barasti rehti hai
hum tere khayalon mein doobe rehte hai
aur ye zaalim duniya hum par hasti rehti hai

प्यासी ये निगाहें तरास्ती रहती है
तेरी याद में अक्सर बरसात रहती है
हम तेरे ख्यालों में डूबे रहते हैं
और ये ज़ालिम दुनिया हम पर हस्ती रहती है

 

(8)

Usse rishta kuch aise basakar rakha hai
wo kaafir samajhte hai
maine roza rakh rakkha hai

उसे रिश्ता कुछ ऐसा बसकर रखा है
वो काफिर समजते हैं
मैंने रोजा रख रखा है

चालाकी पर अनमोल वचन

(9)

Kaun kisko dil mein jagah deta hai
sukhe patte to ped bhi gira dete hai
waakif hai hum duniya ke riwaazo se,
matlab nikal jaaye to har ko bhula deta hai.

कौन किसको दिल में जगा देता है
सुखे पत्ते तो पेड़ भी गिरा देते हैं
वाकिफ है हम दुनिया के रिवाजो से,
मतलाब निकल जाए तो हर को भुला देता है।

 

(10)

Matlabi duniya mein log afsos se kehte hai ki,
koi kisi ka nahi….lekin koi yeh nahi sochta
ki hum kiske hue.

मतलब दुनिया में लोग अफसो से कहते हैं की,
कोई किसी का नहीं….लेकिन कोई ये नहीं सोचा
की हम किस रंग।

 

(11)

Hum matlabi nahi ki chaahne waalo ko dhokha de,
bas hume samajhna har kisi ki baski baat nahi

हम मतबी नहीं की चाहने वालों को धोखा दे,
बस हमें समाधान हर किसी की बस बात नहीं

Top चालाकी पर अनमोल वचन

(12)

Kitni bhi shiddat se nibha lo dil ka rishta
chaalaki karne waale kar hi jaate hai

कितनी भी शिद्दत से निभा लो दिल का रिश्ता
चालक करने वाले कर ही जाते हैं

 

(13)

 

Waakif hai hum duniya ke riwaazon se,
matlab nikal jaaye to sab log chalaki kar dete hai.

वाकिफ है हम दुनिया के रिवाजों से,
मैटलैब निकल जाए तो सब लोग चलकी कर देते हैं।

 

(14)

Kaato mein rehkar bhi hum zindagi jee lete hai
har zakhm ko apne haatho se see lete hai
jis haath ko keh diya dost kaa haath
us haath se hum zeher bhi pee lete hai

कातो में रहकर भी हम जिंदगी जी लेते हैं
हर ज़ख्म को अपने हाथो से देखते हैं जाने
जिस हाथ को कहा दिया दोस्त का हाथ
हम हाथ से हम ज़हर भी पेशाब करते हैं

चालाकी पर अनमोल वचन for life lesson 

(15)

Ye din hai ke yaaron ka bhi bharosa nahi
wo din thay ke jab dushman se bhi nafrat nah thi

ये दिन है के यारों का भी भरोसा नहीं
वो दिन थे के जब दुश्मन से भी नफ़रत नहीं थी

 

(16)

Bhula denge tunhe bhi zara sabar to kijiye
aapki tarah chaalak banne mein zara waqt lagega

भुला देंगे तुझे भी जरा सबर तो किजिये
आपकी तार चालक बनने में जरा वक्त लगेगा

For young चालाकी पर अनमोल वचन

(17)

Koi kehta hai ki duniya ‘pyaar’ se chalti hai
koi kehta hai ki duniya dosti se chalti hai
lekin jab aazmaya to paaya ki
duniya chaalaki se chalti hai

कोई कहता है की दुनिया ‘प्यार’ से चलती है
कोई कहता है की दुनिया दोस्ती से चलती है
लेकिन जब आजमाया तो पाया की
दुनिया चलाकी से चलती है

important चालाकी पर अनमोल वचन

(18)

Rishte kabhi  zindagi ke saath nahi chalte,
rishte ek baar bante hai,
fir zindagi rishton ke saath chalti hai.

रिश्ते कभी जिंदगी के साथ नहीं चलते,
रिश्ते एक बार बनते हैं,
फिर जिंदगी रिश्तों के साथ चलती है।

 

(19)

Pyaasi ye duniya tarasti rehti hai
teri yaad mein barasti rehti hai
hum tere khayalo mein doobe rehte hai
aur ye zaalim duniya hum par hasti rehti hai.

प्यासी ये दुनिया तरास्ती रहती है
तेरी याद में बरसात रहती है
हम तेरे ख्यालो में डूबे रहते हैं
और ये ज़ालिम दुनिया हम पर हस्ती रहती है।

चालाकी पर अनमोल वचन

(20)

 

Mujhko us saksh ki chaalaki pe reham aata hai jisko
har chiz mili sirf mohabbat naa mili

मुझको हमें साक्षी की चालक पे रहम आता है जिसको
हर चिज़ मिली सिरफ मोहब्बत ना मिल

 

(21)

 

Zindagi mein khud ko kabhi kisi insaan ka aadi mat banana,
aajkal log bht chaalak hai
kewal apne matlab se hi pyaar karte hai

जिंदगी में खुद को कभी किसी इंसान का आदि चटाई बनाना,
आजकल लोग भी चालक है
केवल अपने मतलब से ही प्यार करते हैं

 

(22)

Jarur ekdin wo saksh tadpega humare liye..
abhi to khusiyaan bohot mil rahi hai use chaalak logo se

जरूर एकदिन वो साक्षी तड़पेगा हमारे लिए..
अभी तो खुशियां बहुत मिल रही है चालक लोगो का इस्तेमाल करें से

 

(23)

Ye mat samajh ki teri chaalaki se waakif nahi hai hum ;
tadap rahe hai wo ab jise haasil nahi hai hum .

ये मत समझ की तेरी चालक से वक़िफ़ नहीं है हम;
तड़प रहे हैं वो अब जिसे हासिल नहीं है हम।

चालाकी पर अनमोल वचन by chanakaya

(24)

Kuch yun hua ki
jab jarurat padi mujhe
har saksh ittefaq se
majbur ho gaya .

कुछ यूं हुआ कि
जब जरुरत पड़ी मुझे
हर साक्षी इत्तेफाक से
मजबूर हो गया।

 

(25)

Aaj gumnaam hun to zara faasla rakh mujhse
kal fir mashoor ho jaau to chaalaki se koi rishta nikaal lena.

आज गुमनाम हूं तो जरा मामला रख मुझसे
कल फिर मशहूर हो जाऊ तो चालक से कोई रिश्ता निकला लेना।

 

 

Thank You .

Doston hmare shayri ko padhne k liye bht bht dhnaywaad . Hme comment krke jrur btayen ki apko hmara content kesa lga . ese or bi shayari k liye app hme follow karen .

चालाकी पर अनमोल वचन  |

Leave a Comment