Best 100+ जुनून भरी शायरी दो लाइन | junun bhari shayari | 2022 |

Best 100+ 

जुनून भरी शायरी दो लाइन | junun bhari shayari | 2022 |

 

जुनून भरी शायरी दो लाइन : Hello  Doston toh yar kese ho app sabhi log swagat h app sabhi ka shayarhindi.com pr doston aaj hm apke liye kuch ese content leke aaye hai jisse  apko apke life me bhttt madad milege जुनून भरी शायरी दो लाइन . doston hm sub k life me kbi na kbi esa wqt jrur aata hai jaha hm andr se tut jate hain charo traf bus naummid hi dikhti h uss wqt me hme kuch shara chahiye hota h wps uthne k liye . aaj is post me जुनून भरी शायरी दो लाइन   apka whi sahara bengi .  doston   agr apke life me kisi bi trha ki dikkat ho toh hme hmare mail k teht contact kre hmse jo ban skega hm apke liye krenge . Agar ap shyari k shokin h toh hmare home page k menu pr jerur visit kre . No 20  jrur padhna bhtt khass hai .

 

Global Warming Alert !

Click below for more !

 

[ जुनून भरी शायरी दो लाइन ]

 

 

जुनून भरी शायरी दो लाइन
जुनून भरी शायरी दो लाइन

 

(1)

उलझने बढ़ती गई मैं झेलता रहा,

वक्त ने मैदान में उतारा में खेलता रहा। 2

            लोग कहने लगे तू पागल हो जाएगा, मैं सुनता रहा।

            लोगों की बातों को मन में दबाए अपने सपने बुनता रहा, 

            लेकिन कैसे बताऊं इन लोगों को की जब वक्त बदलेगा तो मैं नहीं मेरा विश्वास बदलेगा।

           फिर ये पागल इन लोगों को नहीं, पूरा इतिहास बदलेगा।

 

 

(2)

नदी ने अकरते हुए कुएं से पूछा, तेरी क्या औकात है तुझे पता है।

कहां मैं नदी और कहां तू बेचारा छोटा सा कुआं। 

कुऑ हाथ जोड़कर बोला बहन जी ठीक ही कहती हो, 

भटकाव में और ठहराव में कुछ तो फर्क होता ही है।

फर्क इतना ही है की तू प्यासे के पास जाती है, और प्यासा मेरे पास आता है।

तुम ऊपर से नीचे की ओर जाती हो इसीलिए खारी हो जाती हो।

मैं नीचे से ऊपर की तरफ आता हूं इसलिए मीठा हो जाता हूं।

 

 

(3)

एक अखबार हूं औकात ही क्या है मेरी। 2

 मगर शहर में आग लगाने के लिए काफी हूं।

 

 

(4)

लग गई आग, मेरे घर में बचा ही क्या है।

और बच गया मैं, तो समझ लो कि जला ही क्या है।

और अपनी मेहनत का नतीजा है मुकद्दर अपना,

वरना हाथों की लकीरों में रखा ही क्या है।

 

 

(5)

किसी को घर से निकलते ही मिल गई मंजिल। 2

कोई हमारी तरह उम्र भर सफर में रहा।

 

जुनून मोटिवेशनल शायरी

जुनून भरी शायरी दो लाइन

(6)

लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती,

 कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।

 

 

(7)

 नन्हीं चींटी जब दाना लेकर चलती है,

चढ़ती दीवारों पर, सौ बार फिसलती है।।

 

 

(8)

 मन का विश्वास रगों में साहस भरता है, 

चढ़कर गिरना, गिरकर चढ़ना न अखरता है।

आख़िर उसकी मेहनत बेकार नहीं होती, 

कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।।

 

 

(9)

डुबकियां सिंधु में गोताखो#र लगाता है, 

जा जा कर खाली हाथ लौटकर आता है। 

मिलते नहीं सहज ही मोती गहरे पानी में, 

बढ़ता दुगना उत्साह इसी हैरानी में।।

   मुट्ठी उसकी खाली हर एक बार नहीं होती, 

कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।।

 

Best जुनून भरी शायरी दो लाइन

(10)

असफलता एक चुनौती है,

इसे स्वीकार करो, क्या कमी रह गई,

देखो और सुधार करो। 

जब तक न सफल हो, नींद चैन को त्यागो तुम,

संघर्ष का मैदान छोड़ कर मत भागो तुम।

कुछ किये बिना ही जय जय कार नहीं होती,

कुछ किये बिना ही जय जय कार नहीं होती, 

कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।।

 

 

(11)

जेब में जब लाखों होना, तो लाखों देने वाले लाखों मिलते हैं। 

ऐसी मिसाल यहां हजार खड़ी होती है, 

पर जेब में कुछ भी ना होना तो ₹100 मिलना भी बात बहुत बड़ी होती है।

 

 

(12)

इश्क में जीत के आने के लिए काफी हूं, मैं अकेला ही जमाने के लिए काफी हूं। 

मेरी हर हकीकत को ख्वाब समझने वालों, मैं तुम्हारी नींद उड़ाने के लिए काफी हूं।

 

जुनून भरी शायरी दो लाइन in hindi 

(13)

यह बात अलग है कि तुम ना बदलो, मगर जमाना बदल रहा है। 2

गुलाब पत्थर पर चल रहे हैं, चिराग आंधी में जल रहा है। 

यही जुनून एक ख्वाब मेरा है, वहां चिराग जला दूं जहां अंधेरा है।

 

 

(14)

ये कांटे, ये धूप, ये पत्थर, इनसे कैसा डरना है, 

राहे मुश्किल हो जाए तो छोड़ी थोड़ी  जाती है।

 

जंग जीतने वाली शायरी

 

(15)

यूँ ही नहीं मिलती राही को मंजिल,

एक ‘जुनून’ सा दिल में जगाना पड़ता हैं।

पूछा चिड़ियाँ से कैसे बनता है आशियाना,

तो बोली तिनका-तिनका उठाना पड़ता हैं।

 

जुनून भरी शायरी दो लाइन by shayarhindi.com 

(16)

असल में वही  जिंदगी की चाल को समझता है ,

जो सफर में धूल को गुलाल समझता है।

 

 

(17)

इस दुनिया में असम्भब कुछ भी नहीं ,

हम वो सब कर सकते है ,जो हम सोच सकते है ।

और हम वो सब सोच सकते हैं ,जो आजतक हमने सोचा हि नहिं।

 

 

(18)

जैसे हो वैसे ही रहा करो ,किसी की तरह बनने की जरुरत नहीं।

            क्यूंकि ओरिजिनल की कीमत हमेशा कॉपी से ज्यादा होती है।

 

 

(19)

अगर जिंदगी में कुछ बुरा हो तो सब्र रखना ,

क्यूंकि रोने के बाद हँसने का मजा  ही कुछ और होता है।

 

 

(20)

सफलता हमारा परिचय दुनिया से करबाती है,

और असफ़लता  हमें दुनिया का परिचय करवाती है।

 

जुनून भरी शायरी दो लाइन for boys 

(21)

अगर आप उस वक्त मुस्कुरा सकते हो,

जब आप पूरी तरह से टूट चुके हो तो

दुनिया में आपको कोई भी हरा नहीं सकता।

 

 

(22)

खुद पर यकीन रखना ….. ये आसमान का इशारा है …..

बस मिलने वाली है मंज़िल ….. कल का सूरज तुम्हारा है ….

 

साहस भरी शायरी

 

(23)

परिंदों को मंज़िल मिलेगी यकीनन ….. ये फैले हुए उनके पर बोलते हैं…..

अक्सर वो लोग खामोश रहते हैं …. ज़माने में जिनके हुनर बोलते हैं।

 

 

(24)

ना कोई संघर्ष, ना कोई तकलीफ…तो क्या ख़ाक मज़ा है जीने में

बड़े बड़े तूफ़ान थम जाते हैं, जब आग लगी हो सीने में …

 

 

(25)

जिनके इरादे मेहनत की स्याही से लिखे जाते हैं …

उनकी किस्मत में कभी खाली पन्ने नहीं होते हैं।

 

 

(26)

चलता रहूँगा पथ पर चलने में माहिर बन जाऊँगा …..

या तो मंज़िल मिल जायेगी या अच्छा मुसाफिर बन जाऊँगा।

 

जुनून भरी शायरी दो लाइन

 

(27)

उठो तो ऐसे उठो कि फक्र हो बुलंदी को …..

झुको तो ऐसे झुको की बंदगी भी नाज़ करे …..

 

 

(28)

जब कड़ी से कड़ी जोड़ते हैं तभी जंजीर बनती है …..

और जब मेहनत पे मेहनत होती है तभी तक़दीर बनती है।

 

 

Thank You.

Doston aap sabhi ka bhtt dhanywaad hmare जुनून भरी शायरी दो लाइन blogpost ko pahne ke liye . doston comment jrur kare apke comet se hamara hoosla badhta hai . Hm apke liye ese hi majedar or dhuwadar jokes and  shayari laate rehege .

( shayarhindi sigininf off…… )

Leave a Comment