BEST STORY | डोरेमोन की असली कहानी | DOREMON KI ASLI KAHANI| 2022

 BEST STORY | डोरेमोन की असली कहानी | DOREMON KI ASLI KAHANI|

BEST STORY | डोरेमोन की असली कहानी | DOREMON KI ASLI KAHANI|
BEST STORY | डोरेमोन की असली कहानी | DOREMON KI ASLI KAHANI|


डोरेमोन की असली कहानी :-
Hello doston ! hindimefeeds.com mein aap sabhi ka bahut bahut swaagat hai . Aaj hm lekar aaye hai aapke gharo ke chote chote baccho ke liye डोरेमोन की असली कहानी . Bachho ko puraani kahaniyaa sunne mein bahut maza aata hai wo aksar humse kahaniyaan sunane ki zid krte hai aur hm sabhi ko ye pta hai ki baccho ko samjhana kitna mushkil hota hai . To aasha karte hai ki hamari डोरेमोन की असली कहानी kahani se aapki kuch madad ho paayegi. To padhiye is post ko aur masti karaiye apne  bachho ko kch alg andaaz mein . Aur Paragraph 6 ko jarur padhe !

 

NINJA HATHORI !

click below for quotes or shayaris:

Tareef shayari for status
Attitude shayari for boys 

Royal Dabbang hindi status shayari . 
Chaturai par shayari for What’s app status .
मनहूस पर शायरी  hindi shayar .
Positive Quotes in Hindi for life
कब्रिस्तान हॉरर स्टोरी इन हिंदी

 

                              डोरेमोन की असली कहानी

 

डोरेमोन की कहानी

 दोस्तों सुपर हीरो कोई भी हो। कितना भी ताकतवर क्यों ना हो लेकिन बच्चों को शुरू से ही डोरेमोन की तरह ही दोस्त चाहिए और यहां तक कि कुछ बड़े लोग भी अपने इस फेवरेट कार्टून को देखने का शौक नहीं छोड़ पाते हैं।

 

डोरेमोन एक काल्पनिक कहानी

डोरेमोन की असली कहानी for kids

लेकिन इस कहानी को शुरू करने से पहले मैं आपको बता दू की डोरीमोन कोई असली कहानी नहीं है।  हां अपने बिलकुल सही सुना।  डोरेमोन एक काल्पनिक कहानी है जो की फूजी और फुजिको ने लिखा और बनाया है।  हालांकि, बहुत सारे लोगो का ये मानना है की डोरेमोन एक असली कहानी है पर ये उनका गलत मानना है।

 

डोरेमोन से परिचय

 

                                                                 डोरेमोन की असली कहानी for creative kids

 तो चलिए दोस्तों आज के इस कहानी में हम बात करते हैं कार्टून जगत में राज करने वाले TV show डोरेमोन के बारे में।  जिस का क्रेज आज के समय में इतना बढ़ चुका है कि इस जैपनीज कार्टून को पूरी दुनिया में अलग-अलग भाषाओं में डब करके ब्रॉडकास्ट किया जाता है। और इस कार्टून सीरीज में दिखाए जाने वाले नोबिता और डोरेमोन की दोस्ती शक्तियों से जुड़े हुए एडवेंचरस बच्चों को खूब भाते हैं।

और दोस्तों यह कार्टून सीरीज एक जैपनीज कॉमिक्स बुक पर आधारित है जिसे की हीरो शिफूजी मोटो और मोटो एबीको नाम के दो आर्टिस्ट लिखा और बनाया है। और दोनों लोग कई सालों तक एक साथ काम करने के बाद से फूजीको व फूजीजओ नाम से भी जाना जाता है। और इस सीरीज की कहानी फ्यूचर से आई हुई है एक बिल्ली और नोबिता नाम के लड़के के आसपास घूमती है जिसमें नोबिता एक बहुत ही आम लड़का रहता है। जो ना तो किसी खेल में और ना ही पढ़ाई में अच्छा होता है।और इसलिए फ्यूचर से नोबिता के वंशज उसकी हेल्प करने के लिए एक रोबोट कैट भेजते हैं और इसी का नाम होता है “डोरेमोन”।

                                                                              डोरेमोन की असली कहानी ye hai

और फिर डोरेमोन अपनी फोर डाइमेंशनल पॉकेट से अलग अलग अलग तरह के भविष्य के टेक्नोलॉजी को निकालता है। जिसे की सीरीज में गैजेट्स का नाम दिया गया है। और यह गैजेट्स किसी भी प्रॉब्लम को सॉल्व करने के लिए नोबिता की हेल्प करते हैं। इसके अलावा भी इस सीरीज में कुछ और भी इंटरेस्टिंग किरदार है जैसे कि सीजुका जो की नोबिता की सबसे अच्छी दोस्त है और शिजुका से नोबिता प्यार भी करता है। साथ ही इस कहानी में जियान और सूजिओ नाम का भी किरदार है जो की नोबिता को परेशान करने का काम करते हैं। लेकिन परेशानी अगर ज्यादा आ जाए तो वह भी नोबिता का मदद करने के लिए आ ही जाते हैं।

 

डोरेमोन की पहली सीरीज

 और दोस्तों डोरेमोन की ओरिजिनल कॉमिक सीरीज 15 दिसंबर 1969 से 23 जून 1996 तक पब्लिश की गई जिसमें कि इसके कुछ 1345 कहानियां बनाए गए। और शुरुआती दौर में ही लोगों ने इस कॉमिक सीरीज को इतना ज्यादा पसंद किया कि इसे 1 अप्रैल 1973 से टीवी पर एनिमेशन के तौर पर लोगों के सामने प्रजेंट किया गया। हालांकि, डोरेमोन की अभी तक तीन एनीमेशन सीरीज बनाए जा चुके हैं।

                                                                     kids ko sunaiye डोरेमोन की असली कहानी

इसमें पहला सीरीज 1 अप्रैल 1973 से 30 सितंबर 1973 तक ब्रॉडकास्ट किया गया था। हालांकि, इस सीरीज में डोरेमोन और नोबिता के किरदार वैसे नहीं थे जैसे कॉमिक्स में।और इसलिए इस सीरीज को महज 5 महीनों के अंदर ही बंद कर दिया गया और आज के समय में इस सीरीज की एक भी कॉपी किसी के पास नहीं है।

 

डोरेमोन की लोकप्रियता

 हालांकि 2 अप्रैल 1979 से जो दूसरी सीरीज आई वह काफी सफल रही। जिसको 18 मार्च 2005 तक ब्रॉडकास्ट किया गया और यहीं से डोरेमोन ने जापान के अलावा बहुत सारे देशों में लोकप्रियता पाई। फिलहाल जो डोरेमोन की सीरीज चल रही है वह है सीरीज 3 जो कि 15 अप्रैल 2005 से शुरू हुई थी। इसमें कुल 530 से भी ज्यादा एपिसोड बनाए जा चुके हैं।

इसी सीरीज को दुनिया के अलग-अलग कोने में प्रसारित किया जाता है। हालांकि, भारत में कभी-कभी इस सीरीज के साथ में इसके पहले वाले सीरीज को भी दिखाया जाता है। दोस्तों डोरेमोन आज के समय की सबसे लोकप्रिय सीरीज है। इसके लोकप्रियता के पीछे की मुख्य वजह है इसके कैरेक्टर्स और बच्चों को इंटरटेन करने के साथ-साथ इस से सीख लेने वाली शानदार स्टोरी।

 

डोरेमोन को दिए गए अवार्ड

 हालांकि, डोरेमोन सिर्फ एनीमेशन सीरीज के लिए ही पॉपुलर नहीं है बल्कि इसके ऊपर 38 से भी ज्यादा फिल्में बनाई जा चुकी है। साथ ही इसके ऊपर बनाए गए वीडियो गेम्स भी बहुत पॉपुलर है। दोस्तों कॉमिक सीरीज की 2015 तक 100 मिलियन से भी ज्यादा कॉपीज बेची जा चुकी थी। साथ ही इसके एनिमेशन वाले सीरीज को 30 से भी ज्यादा देशों में दिखाया जा रहा है। और 2002 में टाइम एशिया मैगजीन ने डोरेमोन को एशियन हीरो के खिताब से भी नवाजा था। और इसके अलावा भी इस सीरीज को सैकड़ों ईनाम मिल चुके हैं।

और अब जापान के लोग डोरेमोन को अपना कल्चर आज कौन मानते हैं। इस एनीमेशन सीरीज को शुरू हुए कई दशक हो चुके हैं लेकिन लोगों में इसका प्यार दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है।

                                                                        sunaiye apne bachon ko  डोरेमोन की असली कहानी

 उम्मीद करता हूं कि डोरेमोन कार्टून से संबंधित यह जानकारियां आपको पसंद आई होगी आपका बहुमूल्य समय देने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

 

                             DORAEMON REAL STORY

डोरेमोन की असली कहानी
डोरेमोन की असली कहानी

 

 

Story of Doremon

Friends are any superhero. No matter how powerful, but children want friends like Doraemon from the very beginning and even some grown people can not give up the hobby of watching this favorite cartoon.

 

Doraemon a fictional story

But before starting this story, let me tell you that Doraemon is not a real story. Yes you heard absolutely right. Doraemon is a fictional story written and created by Fuji and Fujiko. However, many people believe that Doraemon is a real story, but they believe it to be wrong.

 

Introduction to Doraemon

So friends, in today’s story, we talk about the TV show Doraemon, who ruled the cartoon world. Whose craze has increased so much in today’s time that this Japanese cartoon is dubbed and broadcast in different languages ​​all over the world. And the adventures associated with the friendship powers of Nobita and Doraemon shown in this cartoon series are very much liked by the children.

                                                                         डोरेमोन की असली कहानी jaaniye

And friends, this cartoon series is based on a Japanese comic book written and created by two artists named Hero Shifuji Moto and Moto Abiko. And after working together for many years, the two people are also known as Fujiko and Fujijo. And the story of this series comes from the future and revolves around a cat and a boy named Nobita, in which Nobita is a very common boy. Who is neither good in any sport nor in studies. And so Nobita’s descendants from the future send a robot cat named “Doraemon” to help him.

                                                                              kids ka favourite डोरेमोन की असली कहानी

And then Doraemon extracts different futuristic technologies from his four dimensional pocket. Which has been named Gadgets in the series. And these gadgets help Nobita to solve any problem. Apart from this, there are also some other interesting characters in this series such as Sizuka who is Nobita’s best friend and Nobita is also in love with Shizuka. Also, there are characters named Gian and Sujio in this story who work to harass Nobita. But if the trouble comes more, then he also comes to help Nobita.

 

Doraemon first series

And friends Doraemon’s original comic series was published from 15 December 1969 to 23 June 1996, in which some 1345 stories were made. And in the early stages, people liked this comic series so much that it was presented to the people as an animation on TV from April 1, 1973. However, three animation series of Doraemon have been made so far. In this the first series was broadcast from 1 April 1973 to 30 September 1973.

                                                                         डोरेमोन की असली कहानी kya hai

However, the characters of Doraemon and Nobita in this series were not the same as in the comics. And so this series was closed within just 5 months and in today’s time no one has a single copy of this series.

 

Popularity of doraemon

However, the second series which came from 2 April 1979 was very successful. Which was broadcast till March 18, 2005 and from here Doraemon gained popularity in many countries besides Japan. The series of Doraemon which is currently running is Series 3 which started from 15th April 2005. A total of more than 530 episodes have been made in this. This series is broadcast in different corners of the world.

                                                                       kids will love डोरेमोन की असली कहानी

However, in India sometimes this series is shown along with the series before it. Friends, Doraemon is the most popular series of today’s time. The main reason behind its popularity is its characters and children entertaining as well as great story to learn from it.

Awards given to Doraemon

However, Doraemon is not only popular for animation series, but more than 38 films have been made on it. Also video games made on top of it are also very popular. By 2015, more than 100 million copies of the Friends comic series had been sold. Also, its animated series is being shown in more than 30 countries. And in 2002, Time Asia Magazine also awarded Doraemon the title of Asian Hero.

                                                                      Let’s know about  डोरेमोन की असली कहानी

And apart from this, this series has got hundreds of awards. And now the people of Japan who consider Doraemon as their culture today. It has been many decades since this animation series started but its love among people is increasing day by day.

I hope you liked this information related to doraemon cartoon, thank you very much for giving your valuable time.

                                                                                       

Thank You !

Doston hmare story ko padhne k liye bht bht dhnaywaad . Hme comment krke jrur btayen ki apko hmara content kesa lga . ese or bi stories ya shayari k liye app shayarhindi.com  ko follow karen .

Leave a Comment