BEST 20 | maa shayari in hindi | माँ शायरी इन हिंदी | 2022

BEST 20 | maa shayari in hindi | माँ शायरी इन हिंदी | 2022

maa shayari in hindi
maa shayari in hindi

 

maa shayari in hindi: Hello  Doston toh yar kese ho app sabhi log swagat h app sabhi ka shayarhindi.com pr doston aaj hm apke liye kuch ese content leke aaye hai jisse  apko apki feelings apni maa ko express krne m madad milege maa shayari in hindi .

doston hm sub k life me kbi na kbi esa wqt jrur aata hai jaha hm andr se tut jate hain charo traf bus naummid hi dikhti h uss wqt me hme kuch shara chahiye hota h wps uthne k liye . aaj is post me maa shayari in hindi  apka whi sahara bengi .  doston   agr apke life me kisi bi trha ki dikkat ho toh hme hmare mail k teht contact kre hmse jo ban skega hm apke liye krenge . Agar ap shyari k shokin h toh hmare home page k menu pr jerur visit kre . No 21  jrur padhna bhtt khass hai .

Beti Padhao!

Click below for more !

maa shayari in hindi
maa shayari in hindi

 

[ maa shayari in hindi] 

 

 (1)

Upar jiska ant nahi usey aasmaan kehte hai,
niche jiska ant nahi usey maa kehte hai.

ऊपर जिस्का अंत नहीं उसे आसमान कहते हैं,
आला जिस्का अंत नहीं उसे मां कहते हैं।

(2)

Ishwar har jagah nahi ho sakta isliye
usne maa ko banaya hai

ईश्वर हर जग नहीं हो सकता है इसलिये
उसे मां को बनाया है

(3)

Prem se jo kch de wo behen hai,
Lad-jhagad ke jo deta hai wo bhai hai,
Puch kar jo dete hai wo pita hai,
bina maange jo sab kuch de de wo maa hai!

प्रेम से जो कुछ दे वो बहन है,
बालक-झगड़ के जो देता है वो भाई है,
पुच कर जो देते हैं वो पिता है,
बिना मांगे जो सब कुछ दे दे वो मां है!

(4)

Sar par jo haath fere, to himmat mil jaaye
maa ek baar muskura de to jannat mil jaaye

सर पर जो हाथ फेरे तो हिम्मत मिल जाए
माँ एक बार मस्कुरा डे तो जन्नत मिल जाए

(5)

Chalti firati aankhon mein azaan dekhi hai
maine jannat to nahi par maa dekhi hai

सूना-सूना सा मुझे ये घर लगता है
माँ जब नहीं होती तो बहुत डर लगता है।

(6)

Soona-Soona saa mujhe ye ghar lagta hai
maa jab nahi hoti to bahut dar lagta hai.

भुख तो एक रोटी से भी मिट जाती मां,
अगर थाली की वो रोटी तेरे हाथ की होती!

(7)

Bhookh to ek roti se bhi mit jaati maa,
agar thaali ki wo roti tere haath ki hoti!

भुख तो एक रोटी से भी मिट जाती मां,
अगर थाली की वो रोटी तेरे हाथ की होती!

(8)

Maang lun yeh duaa ki fir yahi jahan mile,
fir yahi goad fir yahi maa mile!

मांग लुन ये दुआ की फिर यहीं जहां मिले,
फ़िर यही गोड़ फ़िर यही माँ मिले!

(9)

Kala tika , dudh malai
aaj bhi sab kuch waise hai,
mai hi mai hun har jagah
pyaar ye tera kaisa hai!

कला टीका, दूध मलाई
आज भी सब कुछ वैसा ही है,
मैं ही मैं हूं हर जगाही
प्यार ये तेरा कैसा है!

(10)

Ghutno pe raingte-raingte jab pairon par khada hua,
maa teri mamta ki chaav mein jaane kabh bada hua.

घुटनो पे रँगते-रंगते जब जोड़े पर खड़ा हुआ,
माँ तेरी ममता की चाह में जाने कभी बड़ा हुआ।

maa shayari in hindi
maa shayari in hindi

(11)

Wo likha ke laai hai kismat mein jaagna
maa kaise so sakegi ki beta safar mein hai.

वो लिखा के लाई है किस्मत में जागना
माँ कैसे तो खातिर की बेटा सफर में है।

(12)

Aye andhere dekh muh tera kaala ho gaya
maa ne aankhein khol di ghar mein ujala ho gaya.

ऐ और यहां देख मुह तेरा काला हो गया
मां ने आंखें खोल दी घर में उजाला हो गया।

(13)

Kuch is tarah wo mere gunaahon ko dho deti hai,
maa bahut gusse mein hoti hai to ro deti hai.

कुछ इस तरह वो मेरे गुनाहों को धो देता है,
माँ बहुत ज्यादा में होती है तो रो देती है।

(14)

Maa tere dudh ka haq mujhse adaa kya hoga,
tu naaraz hai to khush mujhse khuda kya hoga.

माँ तेरे दूध का हक मुझसे अदा क्या होगा,
तू नाराज़ है तो खुश मुझसे खुदा क्या होगा।

(15)

Tere kadmon mein ye saara jahaan hoga ek din,
maa ke hoton pe tabassum ko sajane waale.

तेरे कदमों में ये सारा जहान होगा एक दिन,
माँ के होन पे तबस्सुम को सजने वाले।

(16)

Gin leti hai din bagair mere guzaare hai kitne,
bhala kaise keh dun ki maa anpadh hai meri.

जिन लेटी है दिन बगैर मेरे गुजरे हैं कितने,
भला कैसे कहूं की मां अनपढ़ है मेरी।

(17)

Phaadon jaise sadme jhelti hai umra bhar lekin,
bas ek aulaad ki takleef se maa tut jaati hai.

फादों जैसे दुख झेलती है उमरा भर लेकिन,
बस एक औलाद की तकलीफ से मां टूट जाती है।

(18)

Maa phehle aansun aate thay to tum yaad aati thi,
aaj tum yaad aati ho aur aansun nikal aate hai.

माँ फेहले आंसुन आते थे तो तुम याद आती थी,
आज तुम याद आती हो और आंसू निकल आते हैं।

(19)

Zara si baat hai lekin hawa ko kaun samjhaaye,
ki meri maa diye se mere liye kaajal banati hai.

जरा सी बात है लेकिन हवा को कौन समझाए,
की मेरी मां दिए से मेरे लिए काजल बनती है।

(20)

Zakhm jab bacche ko lagta hai to maa roti hai,
aisi nisbat kisi aur rishtey mein kaha hoti hai.

ज़ख्म जब बच्चों को लगता है तो माँ रोटी है,
ऐसी निस्बत किसी और रिश्ते में कहा होता है।

maa shayari in hindi
maa shayari in hindi

(21)

School ka wo basta mujhe fir se thama de maa,
zindagi ka safar mujhe bada mushkil lagta hai.

स्कूल का वो बसा फिर से थामा दे मां,
जिंदगी का सफर मुझे बड़ा मुश्किल लगता है।

(22)

Maine kal sab chaahton ki sab kitabein faad di,
sirf ek kaagaz par lafze maa rhehne de!

मैने कल सब चाहतों की सब किताबे फड़ दी,
सिर्फ एक कागज पर लफ्जे मां रहने दे!

(23)

Sakht raahon mein bhi aasaan safar lagta hai,
ye meri maa ki duwaao ka asar lagta hai.

सख्त राहों में भी आसान सफर लगता है,
ये मेरी मां की दुआओ का असर लगता है।

(24)

Jab-Jab kaagaz par likha maine maa ka naam,
kalam adab se bol uthi, ho gaye chaaro dhaam.

जब-जब कागज पर लिखा मैंने मां का नाम,
कलाम अदब से बोल उठी, हो गए चारो धाम।

(25)

Jab bhi kashti meri sailaab mein aa jaati hai,
maa duaa karti hai khwaab mein aa jaati hai.

जब भी कशती मेरी सैलाब में आ जाती है,
माँ दुआ करता है ख़्वाब में आ जाती है।

maa shayari in hindi
maa shayari in hindi

Thank You.

Doston aap sabhi ka bhtt dhanywaad hmare ताबड़तोड़ शायरी  blogpost ko pahne ke liye . doston comment jrur kare apke comet se hamara hoosla badhta hai . Hm apke liye ese hi majedar or dhuwadar jokes and  shayari laate rehege .

( shayarhindi sigininf off…… )

 

Leave a Comment